Patanjali research against
COVID-19

In the beginning of COVID-19, when the whole world was clueless about managing the emergent crisis, we began our humble efforts to identify a suitable measure to manage the rampant SARS-CoV-2 infection. Our search started in the knowledgebase of Ayurveda, the ancient Indian science of medicine. We used an integrated platform to identify ancient medicines using modern science. After almost a year, when we look back, we see an unchartered journey that turned out to be a pioneering one in its own accord. We have traversed through the mayhem of different stages of drug development. In the process, we laid the stepping stones for other traditional medicines, waiting to be developed into drugs, with acceptability at par with modern medicine.

Ancient Indian medicinal system, Ayurveda, is at the core of the working mandate of Patanjali Research Institute, Patanjali Research Foundation Trust (PRFT), Haridwar, India.

Our journey began with identification of phytochemicals, which are potential inhibitors of host-virus interactions in SARS-CoV-2 infection. Biochemical and in-vitro experimental evidence confirming our computational observations were followed by in-vivo validation and clinical study. We emphasized not only on generating scientific evidence for drug discovery journey, but also shared them with the global scientific community as research publications in various international journals (click the Research Papers published to find out more.) On top of that, we have few video abstracts in Indian languages of Sanskrit and Hindi to accompany the research papers published. This is our attempt to integrate ancient and modern science by dissolving the language barrier by conveying the scientific concepts.

Acharya Balkrishna

Covid-19
RESEARCH PAPERS

Research-Papers

Videos

Covid-19
Treatment

Divya Swasari-Coronil is a tri-herbal medicine formulated and thoroughly researched and finally developed by the Scientists at Patanjali Research Institute. It is specifically a remedy for
SARS-CoV-2.

Coronil consists of enriched extracts of Withania somnifera (L.) Dunal (Ashwagandha),Tinospora cordifolia (Willd.) Miers (Giloy, heart-leaved moonseed), and Ocimum sanctum L (Tulsi, holy basil) plants. The immunomodulatory and anti-viral properties of these plants and their phytochemical components have been studied using in silico, in vitro, and in vivo approaches.

Covid-19 Youtube

क्रोनिक डिजीज से छुटकारा पाने के लिए करें यह योगासन

क्रोनिक डिजीज से छुटकारा पाने के लिए करें यह योगासन

असाध्य रोगों से मुक्ति के लिए रामबाण है ये 5 प्राणायाम

असाध्य रोगों से मुक्ति के लिए रामबाण है ये 5 प्राणायाम

समस्त देशवासियों से आवाहन कि #21DaysLockdown में कोरोना से बचने के लिए योगभ्यास करें

समस्त देशवासियों से आवाहन कि #21DaysLockdown में कोरोना से बचने के लिए योगभ्यास करें

कोरोना की जंग में पतंजलि की पांच संस्थाएं किसी भी आपातकालीन सेवा के लिए तैयार है

कोरोना की जंग में पतंजलि की पांच संस्थाएं किसी भी आपातकालीन सेवा के लिए तैयार है

कोरोना की लड़ाई में पतंजलि नें पीएम राहत कोष में 25 करोड़ दान किया

कोरोना की लड़ाई में पतंजलि नें पीएम राहत कोष में 25 करोड़ दान किया

CORONA आपदा में पतंजलि द्वारा 25 करोड़ का प्रधानमंत्री राहत कोष में आर्थिक योगदान

CORONA आपदा में पतंजलि द्वारा 25 करोड़ का प्रधानमंत्री राहत कोष में आर्थिक योगदान

कोरोना वायरस से बचाव के लिए अपनाएं ये तीन महत्वपूर्ण सुझाव

कोरोना वायरस से बचाव के लिए अपनाएं ये तीन महत्वपूर्ण सुझाव

जानिए कोरोना वायरस के उत्पत्ति का रहस्य

जानिए कोरोना वायरस के उत्पत्ति का रहस्य

कोरोना होने का खतरा किन लोगों को सबसे ज्यादा है और इससे हम अपना बचाव कैसे करें

कोरोना होने का खतरा किन लोगों को सबसे ज्यादा है और इससे हम अपना बचाव कैसे करें

पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट ने देशहित में कोरोना टेस्ट में उपयोगी RTPCR मशीन दान किया

पतंजलि रिसर्च इंस्टीट्यूट ने देशहित में कोरोना टेस्ट में उपयोगी RTPCR मशीन दान किया

कैसे करें पुरे शरीर को सैनिटाइज

कैसे करें पुरे शरीर को सैनिटाइज

Covid-19 Social Media

हमे रिसर्च पेपर पब्लिश करवाएं हुए है पतंजलि इंस्टिट्यूट, पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन की ओर से की किस तरह से योग और आयुर्वेद साइंटिफिक तरिके से आपकी मद्द करता है तो सबसे पहले मैं इम्युनिटी की बात करूंगा तो इम्युनिटी को बढ़ाने में और साथ में जो इनिशियल रिसर्च हुआ है और बहतु ही सकारात्मक परिणाम हमारे सामने आए हैं वह अश्वगंधा है, गिलोय है इन दोनों के अंदर एक एक्टिव कॉम्पोनेन्ट खोजा है। इन दोनों के ऊपर जो हमने प्रांरभिक रिसर्च किया और आगे रिसर्च को हम कंटिन्यू कर रहे हैं तो जो COVID - 19 का प्रोटीन है उसको आदमी के प्रोटीन के साथ इंटरेक्शन होने से यह दोनों चीज रोकती हैं। यह पहली और दुनिया की सबसे बड़ी सफलता हमें आयुर्वेद में मिली है और इन्तेर्नतिनल रिसर्च पेपर में पब्लिश होने के लिए है और उसको विवेकी तोर पर एक्सेप्ट भी कर लिया है और यह रिसेर्च हमने भारत के प्रधानमंत्री से ले करके, आयुषमंत्रालय दे ले करके, WHO से ले करके दुनिया के टॉप सइंटिस को हमने भेजा है की पतंजलि रिसर्च सेंटर के हमारे करीब 500 साइंटिस्ट है उन्होंने यह इनिशियल रिसर्च करके यह पता लगाया है की अश्वगंधा और गिलोय कोरोना के प्रोटीन को आदमी के प्रोटीन के साथ इंटरेक्शन होने से रोकता है आप मैं बहुत बड़ी सफलता है और अश्वगंधा और गिलोय दोनों इम्युनिटी को भी बढ़ाते हैं इसके भी रिसर्च पेपर आप नेट पर जाकर देख सकते हैं तो इम्युनिटी को बूस्ट करने के लिए, कोरोना से बचने के लिए गिलोय, अश्वगंधा, शतावर, सफेद मूसली यह हमारे यह सदियों सेइम्युनिटी को बढ़ाने के लिए प्रयोग किये जाते रहे।

Click Here